Collector Kaise Bane – 1. जानें योग्यता,कार्य एवं सैलरी

Hello दोस्तों ! misaeducation.com में आपका स्वागत है। आज मैं आपको Collector Kaise Bane के बारे में बताने जा रहा हूँ। जैसा की आपको पता होगा की आज के समय में किसी भी सरकारी जॉब को करना आसान नहीं है। ऐसे में भारत के सबसे Hard exam में से एक UPSC द्वारा आयोजित की गयी एग्जाम CSE को क्लियर करना काफी मुश्किल है।

लेकिन फिर भी आप एक कलेक्टर बनना चाहते है। तो आपको कड़ी लगन एवं मेहनत करनी होगी, तभी आप इसमें सफल हो पाएंगे।कलेक्टर जैसा पद हर कोई पाना चाहता है। क्योंकि यह एक सम्मानीय एवं अच्छी खासी सैलरी वाली जॉब है। इस पद पर जाने के बाद एक अलग पहचान होती है।

Collector Kaise Bane

Collector Kya Hota Hai 

कलेक्टर एक आईएएस अधिकारी होता है। अर्थात एक आईएएस अधिकारी ही कलेक्टर बन सकता है। प्रत्येक जिले में एक कलेक्टर होता है। किसी जिला का सबसे बड़ा अधिकारी एक कलेक्टर ही होता है।

कलेक्टर बनने के लिए आपको ग्रैजुएशन के बाद UPSC ( Union Public Service Commission ) द्वारा आयोजित CSE एग्जाम को क्लियर करना होता है। इसके बाद आप एक आईएएस अधिकारी बनते है। IAS बनने के कुछ समय बाद आपका प्रमोशन होता है। तब जाकर आप एक कलेक्टर बनते है।

जैसा कि मैंने आपको बताया की कलेक्टर बनने के लिए पहले आप आईएएस बनेंगे, उसके बाद कुछ समय के बाद प्रमोशन होने से आप कलेक्टर बन पाएंगे। तो आईये जानते है की आईएएस बनने के लिए क्या करना पड़ता है। अगर आप सच में एक कलेक्टर बनना चाहते है। तो इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़े।

इसे भी पढ़े – IAS Kaise Bane

Collector Kaise Bane

कलेक्टर बनने के लिए आपको बहुत कड़ी मेहनत करनी होगी। कलेक्टर बनने के लिए आपको बहुत कड़ी मेहनत करनी होगी। एवं UPSC द्वारा आयोजित की गयी एग्जाम CSE को क्लियर करना होगा। मेहनत के साथ-साथ आपको कलेक्टर बनने के लिए Qualification एवं योग्यताएं की जानकारी होनी चाहिए।

अगर आप भी एक कलेक्टर बनना चाहते है, तो इस आर्टिक्ल में आपको कलेक्टर बनने के लिए क्वालिफिकेशन एवं योग्यताएं के बारे में विस्तार से जानकारी मिलेगी। तो इस आर्टिकल में बताये गए एक एक स्टेप को ध्यान से पढ़े।

Collector ke liye Qualification ( योग्यता )

अगर आप भी जानना चाहते है कि Collector Kaise Bane तो उससे पहले आपको जानना होगा की कलेक्टर बनने के लिए क्या-क्या योग्ताएं ( Qualification ) होनी चाहिए। तो आईये जानते है कि, कलेक्टर बनने के लिए क्या-क्या क्वालिफिकेशन होती है।

  • सबसे पहले आपको दसवीं पास करनी होगी।
  • उसके बाद आपको किसी भी संकाय से बारहवीं पास करनी होगी।
  • बारहवीं करने के बाद आपको ग्रेजुएशन किसी भी संकाय से 50% अंको से पास करना अनिवार्य है।
  • ग्रेजुएशन करने के बाद आप UPSC पोर्टल से आईएएस ( IAS ) के लिए आवेदन कर सकते है।
  • आयु-सीमा की बात की जाये तो, सामान्य वर्ग ( Gen ) के लिए 21 -32 वर्ष होनी चाहिए।
  • अन्य पिछड़ी जाती ( OBC ) के लिए तीन वर्षो की छूट के कारण आयु-सीमा 21-35 वर्ष होनी चाहिए।
  • अनुसूचित जाति / जनजाति ( SC / ST ) के लिए 5 वर्षो की छूट के साथ उम्र-सीमा 21-37 वर्ष होनी चाहिए।
  • परीक्षा के तीन चरण होते है।
  1. प्रिलिम्स पास करना होता है।
  2. प्रिलिम्स पास करने के बाद आपको मेंस ( मुख्य परीक्षा ) पास करना होगा।
  3. दोनों परीक्षा पास करने के बाद आपको इंटरव्यू क्लियर करना होगा।
  • परीक्षा के तीनो चरण में आप पास हो जाते है, तो आपको LBSNAA Academy में ट्रेनिंग के लिए जाना होगा।
  • ट्रेनिंग पूरी होने के पश्चात आपकी पोस्टिंग किसी जगह पर हो जाएगी। और आप एक आईएएस अधिकारी बन जायेंगे।

आईएएस अधिकारी बनने के कुछ समय बाद आपका प्रमोशन के बाद आप एक जिला के कलेक्टर बन जायेंगे। इससे पहले आपको ऊपर बताये गए Qualification को पूरा करना होगा। एवं आज से ही कड़ी लगन एवं मेहनत शुरू करनी होगी। तभी आप इसमें सफल हो पाएंगे।

इसे भी पढ़े – SDM Kaise Bane

Collector ka Duty ( कार्य )

Collector Kaise Bane एवं Collector Banne Ke Liye Qualification जानने के बाद अब हमलोग जानेंगे की एक आईएएस अधिकारी का कार्य क्या होता है। एक कलेक्टर का निम्नलिखित कार्य होता है।

  1. अपने अंडर आने वाले जिले की भूमि का जाँच एक कलेक्टर करता है।
  2. अपने अंडर आने वाले जिले की भूमि अधिग्रहण करने का कार्य भी एक कलेक्टर का ही होता है।
  3. राजस्व से सम्बन्धित कार्य जैसे राजस्व का संग्रह करना इत्यादि एक कलेक्टर का कार्य होता है।
  4. अपने जिले के बकाया आयकर,उत्पाद शुल्क और सिंचाई बकाया को वसूलने का कार्य भी एक कलेक्टर का ही होता है ।
  5. कृषि ऋण का वितरण का काम एक कलेक्टर करता है।
  6. कलेक्टर ही बाढ़, सूखा और महामारी जैसी प्राकृतिक आपदाओं के समय आपदा प्रबंधन का कार्य करता है ।
  7. बाह्य आक्रमण और दंगों से अपने जिला को बचाने का कार्य भी एक कलेक्टर का ही होता है।
  8. इन सभी कार्यों के अलावा अपने जिले में सुरक्षा और शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए एक जिला कलेक्टर कठोर से कठोर निर्णय भी ले सकता है,
  9. इन सभी के अलावा कानून व्यवस्था को भी सही बनाए रखने का जिम्मेदार एक जिला कलेक्टर की होता है ।

Collector ki salary ( वेतन )

Collector Kaise Bane, Collector Ke Liye Qualification, एवं उसके कार्य जानने के बाद आपके मन में यह सवाल जरूर होगा कि, एक Collector की सैलरी क्या होती है। तो आईये जानते है की एक कलेक्टर अधिकारी की सैलरी क्या होती है।

एक कलेक्टर की सैलरी 56100 – 250000 रुपये प्रतिमाह है। उसके साथ ही साथ सरकार की ओर से कई सुविधाएं दी जाती है। आईएएस लोग की पोस्टिंग जिस जिले या या राज्य में होती है। उन्हें एक आलीशान बंगला प्रदान किया जाता है। जिला-आयुक्त या मुख्यालय में पोस्टिंग होने पर भी यह सुविधा दी जाती है।

एक कलेक्टर को न्यूनतम 1 सरकारी वाहन एवं आधी से अधिक 3 वाहन प्रदान की जाती है। वाहन के लिए ईंधन एवं अन्य चीज़ की सारी जिम्मेवारी सरकार की होती है।

एक कलेक्टर बनने के लिए बहुत कड़ी मेहनत करनी होती है, यदि आपका भी सपना एक कलेक्टर बनना है, तो आज से ही अपनी मेहनत शुरू कर दीजिये।

Some Books For Collector Preparation

Conclusion ( निष्कर्ष )

इस आर्टिकल में मैंने आपको Collector Kaise Bane , Qualification, Duty ( कार्य ) एवं एक कलेक्टर की सैलरी के बारे में जानकारी दी। आशा करते है, यह आर्टिकल आपको बेहद अच्छा लगा होगा। एवं इससे सम्बंदित कोई भी सवाल आपके मन में हो तो आप निचे Comment कर सकते है।

अगर आपको Collector Kaise Bane से जानकारी अच्छी लगी हो तो इस Blog को फॉलो करना न भूले। क्योंकि इसी तरह के Career ( jobs )के बारे में जानकारियां इस ब्लॉग में दी जाएगी।धनयवाद !

FAQ

Que 1. कलेक्टर का कोर्स कितने साल का होता है ?

Ans – 12वीं के बाद सबसे पहले आपको ग्रैजुएशन करने में 4 साल का समय लगता है। उसके बाद आप कलेक्टर बनने के लिए UPSC द्वारा आयोजित CSE एग्जाम के लिए आवेदन कर सकते है। अर्थात मिला-जुलाकर कलेक्टर बनने में 6-8 साल का समय लगता है।

Que 2. कलेक्टर बनने के लिए क्या पढ़ना पड़ता है ?

Ans – कलेक्टर बनने के लिए प्रारंभिक परीक्षा होती है जिसमें दो पेपर होते है पहला सामान्य अध्ययन का और दूसरा Civil Service Aptitude Test का। इन दोनों पेपर में 200-200 अंकों के वैकल्पिक प्रश्न होते है। इस Exam को पास करने के बाद आपको मुख्य परीक्षा (Main Exam) देनी होती है। इतना क्लियर करने के बाद आप एक कलेक्टर के पद के लिए illigible हो जाते है।

Que 3. कलेक्टर बनने के लिए कितना पैसा लगता है ?

Ans – कलेक्टर बनने के लिए फीस की बात करें तो लगभग ₹1,00,000 से ₹2,00,000 तक पैसे लग सकते हैं। यूपीएससी की तैयारी करने के लिए आपको ट्यूशन या इंस्टिट्यूट को ज्वाइन करना होता है। इसकी फ़ीस देने में जितनी खर्च होती है। वही कलेक्टर बनने के लिए काफी होती है।

Leave a Comment